Thursday, January 28, 2021
Advertisement
Home खेल / शिक्षा IND VS AUS: दूसरा वनडे भी हारा भारत, जानिए सीरीज गंवाने की...

IND VS AUS: दूसरा वनडे भी हारा भारत, जानिए सीरीज गंवाने की 5 बड़ी वजहें


IND VS AUS: भारत की वनडे सीरीज गंवाने की पांच बड़ी वजहें (साभार-एपी)

सिडनी में खेले गए दूसरे वनडे में टीम इंडिया (India vs Australia) को 51 रनों से हार झेलनी पड़ी, वनडे सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को अजेय बढ़त मिल गई है

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 29, 2020, 7:30 PM IST

नई दिल्ली. सिडनी में पहला वनडे गंवाने के बाद टीम इंडिया के सभी फैंस को पलटवार की उम्मीद थी लेकिन ऐसा हो नहीं पाया. रविवार को खेले गए दूसरे मैच में भी टीम इंडिया (India vs Australia) बुरी तरह हारी और साथ ही उसने सीरीज भी गंवा दी. ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 389 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया, जवाब में भारतीय टीम 338 रन ही बना सकी और 51 रनों से मैच हार गई. आइए आपको बताते हैं वो पांच वजहें जिनकी वजह से विराट एंड कंपनी के हाथों से सीरीज निकल गई.

टीम इंडिया की हार की सबसे बड़ी वजह खराब गेंदबाजी ही है. पहले वनडे में 374 रन लुटाने के बाद भारतीय गेंदबाजों ने दूसरे मैच में और खराब गेंदबाजी की. इस बार उन्होंने 389 रन लुटा दिये. बुमराह, शमी, युजवेंद्र चहल जैसे गेंदबाजों की आईपीएल 2020 में तूती बोल रही थी लेकिन ऑस्ट्रेलिया आते ही इन खिलाड़ियों की हवा उड़ गई. सभी गेंदबाजों की लाइन-लेंग्थ खराब रही, नतीजा भारत ने मैच गंवा दिया.

एक ओर जहां भारत की गेंदबाजी औसत रही, वहीं दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया की गेंदबाजी में धार दिखाई दी. सिडनी क्रिकेट ग्राउंड की पाटा पिच पर भी हेजलवुड, कमिंस और जंपा ने कई डॉट गेंदें फेंकी जिससे टीम इंडिया पर दबाव बढ़ा. कमिंस ने 3 विकेट हासिल किये और हेजलवुड-जंपा को 2-2 विकेट मिले.

भारत की हार और ऑस्ट्रेलिया की जीत की एक और बढ़ी वजह फील्डिंग रही. पाटा पिचों पर अकसर अच्छी फील्डिंग मैच पलट देती है और ऑस्ट्रेलिया ने ऐसा ही किया. टीम इंडिया के फील्डर एक ओर जहां कैच टपकाते दिखे वहीं दूसरी ओर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने जबर्दस्त कैच लपके. स्टीव स्मिथ ने श्रेयस अय्यर और मोइसेस हेनरिकेस ने विराट कोहली का अद्भुत कैच लपक मैच पूरी तरह अपनी ओर कर दिया.

माना कि दूसरे वनडे में लक्ष्य 390 रन था लेकिन भारतीय बल्लेबाजों ने जो गलतियां की उससे आंख नहीं चुराई जा सकती. शिखर धवन और मयंक अग्रवाल ने बेहतरीन शुरुआत दिलाई और वो बिलकुल सेट लग रहे थे. उन्हें रन बनाने के लिए ज्यादा जोखिम नहीं लेना पड़ रहा था लेकिन सेट होने के बाद ये खिलाड़ी चलते बने. श्रेयस अय्यर के साथ भी ऐसा ही हुआ. हार्दिक पंड्या ने 28 रन बनाए लेकिन वो लय से बाहर दिख रहे थे. नतीजा मैच और सीरीज दोनों टीम इंडिया के हाथों से निकल गई.

टॉस गंवाना भी वनडे सीरीज हार की बड़ी वजह है. सिडनी की पिच पिछले कुल सालों से बल्लेबाजों की स्वर्ग सरीखी बनी हुई है. डे-नाइट मैचों में इस पिच पर पहले बल्लेबाजी करना एक तरह से जीत की गारंटी मानी जाती है. विराट कोहली ने दोनों मैचों में टॉस गंवाया और ऑस्ट्रेलिया को पहले बल्लेबाजी करने का मौका मिला. दोपहर में जब पिच सूखी हुई थी तो बल्लेबाजों को रन बनाने में आसान हुई लेकिन शाम के वक्त पिच पर थोड़ी नमी होती है जिस पर खुलकर रन नहीं बनाए जा सकते.





Source link

Must Read