BSP चीफ मायावती का निशाना- चरणजीत सिंह चन्नी को सीएम बनाना चुनावी हथकंडा, दलितों पर कांग्रेस को भरोसा नहीं

0
33


चंडीगढ़
पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद चरणजीत सिंह चन्नी को राज्य का नया सीएम बनाया गया है। चन्नी प्रदेश के पहले दलित समुदाय से आने वाले मुख्यमंत्री हैं। हालांकि, कांग्रेस हाईकमान के इस फैसले पर विपक्षी दलों ने निशाना भी साधा है। बीएसपी प्रमुख मायावती ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस को दलितों पर भरोसा नहीं है। चन्नी को सीएम बनाना कांग्रेस का चुनावी हथकंडा है क्योंकि उन्हें कुछ ही वक्त के लिए सीएम बनाया गया है जबकि वह आगामी विधानसभा चुनाव में गैर-दलित की अगुवाई में चुनाव लड़ेगी।

मायावती ने दी बधाई
हालांकि, मायावती ने चन्नी के सीएम बनने पर उन्हें बधाई भी दी है। उन्होंने कहा, ‘ मैं चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का मुख्यमंत्री बनने पर बधाई देती हूं। बेहतर होता कि उन्हें पहले ही सीएम बना दिया जाता। पंजाब चुनाव से ठीक पहले चन्नी की सीएम के रूप में नियुक्ति कांग्रेस का चुनावी हथकंडा लगता है।’ उन्होंने आगे कहा कि मुझे मीडिया के माध्यम से पता चला है कि पंजाब का अगला विधानसभा चुनाव कांग्रेस एक गैर-दलित के नेतृत्व में लड़ेगी। इसका मतलब यह है कि कांग्रेस को अभी भी दलितों पर पूरा भरोसा नहीं है।

हरीश रावत के बयान पर निशाना
मायावती ने कहा कि पंजाब में अकाली-बीएसपी के गठबंधन से भी कांग्रेस डरी है। मायावती ने इशारों में हरीश रावत के उस बयान पर भी निशाना साधा है, जिसमें उन्होंने अगला विधानसभा चुनाव नवजोत सिंह सिद्धू के चेहरे पर लड़ने की बात कही थी। रावत ने कहा था कि नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब कांग्रेस के प्रमुख हैं और राज्य में काफी लोकप्रिय हैं। ऐसे में प्रदेश का आगामी विधानसभा चुनाव सिद्धू के चेहरे पर लड़ा जाएगा।

रावत के बयान पर हंगामा
हालांकि, उनका बयान सामने आने के बाद कांग्रेस नेताओं ने ही इसका विरोध किया है। कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ ने इस पर कहा कि रावत का यह बयान चौंकाने वाला है। यह एक सीएम के अधिकार को कमजोर करने जैसा है, साथ ही उनके इस पद पर चयन के पार्टी के मकसद को भी विफल करने वाला है। वहीं बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने कहा कि अगर चरणजीत सिंह चन्नी को सिर्फ नवजोत सिंह सिद्धू के लिए सीट होल्ड करने के लिए सीएम बनाया गया है तो यह पूरे दलित समुदाय का बड़ा अपमान है। यह पूरी तरह से दलित सशक्तीकरण के नैरेटिव को कमजोर करता है।



Source link