अब ‘चंद्रकांता’ के तिलस्मी चुनारगढ़ में बसेगा पूर्वांचल का पहला टेंट सिटी, बनेगा टूरिस्‍ट स्‍पॉट

0
4


विकास पाठक, वाराणसी
देवकी नंदन खत्री के सदी पहले के मशहूर हिन्‍दी उपन्‍यास चंद्राकांता की तिलस्‍मी कहानी से जुड़े चुनारगढ़ (चुनार किला) के बारे में आज की पीढ़ी ने सुना या टीवी सीरियल में ही देखा होगा। लेकिन अब उसे नजदीक से देखने और वहां रात गुजारने का मौका मिलना कम रोमांचकारी नहीं होगा। ऐतिहासिक चुनारगढ़ को टूरिस्‍ट स्‍पॉट बनाने के लिए यहां पूर्वांचल की पहला टेंट सिटी बसाया जाएगा। इसी महीने मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के संभावित मीरजापुर जिले के दौरे में टेंट सिटी प्‍लान पर काम शुरू होने की उम्‍मीद है।

मीरजापुर जिले में कैमूर पर्वत पर चुनार किला गंगा नदी के किनारे पर स्थित है। चंद्रकांता के चुनार गढ़ से पहले यह किला हिन्‍दू शक्ति के केन्‍द्र के रूप में जाना जाता था। पर्यटन विभाग ने इसे पूर्वांचल का नया टूरिस्‍ट स्‍पॉट बनाने पर काम शुरू किया है। इसी क्रम में किला परिसर में ही पर्यटकों के रात गुजारने के लिए अत्‍याधुनिक सुविधाओं वाले 200 टेंट कॉटेज बनाने का प्‍लान है। इसके लिए ढाई बीघा जमीन चिन्हित करने के साथ बजट मुहैया कराने के लिए सूबे की सरकार को पत्र भेजा गया है।

अत्‍याधुनिक सुविधाओं वाले कॉटेज
सहायक पर्यटन अधिकारी नवीन कुमार ने बताया कि अभी तक चुनार आने वाले सैलानी दिन में घूमने के बाद वाराणसी लौट जाते हैं। किला परिसर में ही आधुनिक सुविधाओं से लैस कॉटेज बनने से सैलानी यहां रात गुजारना पसंद करेंगे। सैलानियों के लिए भोजन आदि की बेहतर व्‍यवस्‍था की जाएगी। इसके साथ ही किला परिसर को जगमगाने के लिए लाइटिंग, एप्रोच मार्ग ठीक करने सहित अन्‍य काम भी होंगे। टेंट सिटी बसने से इलाके के लोगों के लिए रोजगार के नए अवसर तो खुलेंगे ही चुनार के किले के आसपास स्थित सुरम्‍य वादियों वाले स्‍थान भी विकसित होने में देर नहीं लगेगी।

किला हिन्‍दूकाल का
चुनार किले का इतिहास सदियों पुराना है। हिन्‍दू काल के भवनों के अवशेष अभी तक इस किले में हैं। उस काल के महत्‍वपूर्ण चित्र और विक्रमादित्‍य का बनवाया भतृहरि का मंदिर प्रमुख है। मंदिर में उनकी समाधि है। सोनवा मंडप, सूर्य घड़ी, विशाल कुआं, बड़ी सुरंग और मुगलों के मकबरे के अलावा गिरजाघर भी हैं। इसका पुनरनिर्माण शेरशाह सूरी ने करवाया था। किले की चारों ओर ऊंची-ऊंची दीवारों के बीच से सूर्यास्‍त का नजारा देखना मनोहारी प्रतीत होता है। अंग्रेजी हुकूमत के दौर में किले का सैन्‍य दृष्टि से सैनिक महत्‍व रहा था। वॉरेन हेस्टिंग का तो यह प्रिय निवास स्‍थान था।



Source link